Hindi Shayari, Phoolo Ki Hifazat

Hindi Shayari, Phoolo Ki Hifazat

Jo Teer Bhi Aata Woh Khaali Nahi Jata,
Mayoos Mere Dil Se Sawali Nahi Jata,
Kaante Hi Kiya Karte Hain Phoolo Ki Hifazat,
Phoolo Ko Bachane Koi Maali Nahi Aata.

Hindi Shayari Phoolo Ki Hifazat

जो तीर भी आता वो खाली नहीं जाता,
मायूस मेरे दिल से सवाली नहीं जाता,
काँटे ही किया करते हैं फूलों की हिफाज़त,
फूलों को बचाने कोई माली नहीं जाता।

Waqt Kahta Hai Ki Phir Na Aaunga,
Teri Aankhon Ko Ab Na Rulaunga,
Jeena Hai Toh Iss Pal Ko Jeele,
Shayad Main Kal Tak Na Ruk Paunga.

वक्त कहता है कि फिर नहीं आऊंगा,
तेरी आँखों को अब न रुलाऊंगा।
जीना है तो इस पल को जी ले,
शायद मैं कल तक न रुक पाऊंगा।

Na Jaane Kitni Ankahi Baatein,
Kitni Hasrate Saath Le Jayenge,
Log Jhoothh Kehte Hain Ke,
Khali Haath Aaye The Aur Khali Haath Jayenge.

ना जाने कितनी अनकही बातें,
कितनी हसरतें साथ ले जाएगें
लोग झूठ कहते हैं कि
खाली हाथ आए थे और खाली हाथ जाएगें।

 

तुम्हारा ज़र्फ़ है तुम को मोहब्बत भूल जाती है,
हमें तो जिस ने हँस कर भी पुकारा याद रहता है,
मोहब्बत में जो डूबा हो उसे साहिल से क्या लेना,
किसे इस बहर में जा कर किनारा याद रहता है।

Tumhara Zarf Hai Tum Ko Mohabbat Bhool Jati Hai,
Humein To Jisne Hans Kar Bhi Pukara Yaad Rehta Hai,
Mohabbat Mein Jo Dooba Ho Use Sahil Se Kya Lena,
Kise Iss Behar Mein Jakar Kinara Yaad Rehta Hai.

Hindi Shayari, Phoolo Ki Hifazat

Love Shayari,  Hindi Shayari , Shayari on Love

.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *